न भूलें

अवैध कामों और बेकार चीजों से बचना न भूलें l हर उस बात या चीज़ से बचें जिस में कोई लाभ नहीं है l रमज़ान के पूरे महीने में रोज़ा और तरावीह की पाबंदी का विशेष ख़याल रखिए l विशेष रूप से रमज़ान के पिछले दस दिनों में पाबंदी का प्रयास कीजिये ताकि शबक़दर आपको मिल जाए l(रमज़ान के पिछली दस रातों में एक ऐसी रात है जो हज़ार रातों से भी अधिक गुणवान है l)

अल्लाह सर्वशक्तिमान हमें उन लोगों में रखे जो रमज़ान के रोज़े रखते हैं और इस तरह उस में नमाज़ पढ़ते हैं जो अल्लाह को पसंद है l

रोज़ों से संबंधित कुछ नियत और प्रत्येक नियत का सुबूत :
क – रमज़ान के महीने से संबंधित नियत l