इस्लाम के फ़र्ज़ की अदाईगी की नियत करना चाहिए :

  1. हज़रत पैगंबर -उन पर इश्वर की कृपा और सलाम हो-ने फ़रमाया :

"بني الإسلام على خمس:شهادة أن لا إله إلا الله و أن محمدا رسول الله، وإقام الصلاة، وإيتاء الزكاة، وصوم رمضان، وحج البيت."

)इस्लाम की बुनियाद पांच चीज़ें हैं : यह गवाही देना कि अल्लाह सर्वशक्तिमान को छोड़ कर कोई पूजनीय नहीं है और यह कि हज़रत मुहम्मद-उन पर इश्वर की कृपा और सलाम हो-अल्लाह के रसूल हैं l और अच्छी तरह नमाज़ पढ़ना और ज़कात देना और रमज़ान का रोज़ा रखना और पवित्र कअबा का हज करनाl) [बुख़ारी और मुस्लिम ने इसे उल्लेख किया l]