पीने के समय की सुन्नतें

पीने के समय की सुन्नतें:


पीने से पहले "बिस्मिल्लाह" पढ़ना सुन्नत है: उसके शब्द यह हैं:

(بسم الله الرحمن الرحيم(

"बिस्मिल्लाहिर-रहमानिर-रहीम (अल्लाह के नाम से जो बड़ा कृपाशील, अत्यंत दयावान है) l
2- दाहिने हाथ से पीना: क्योंकि शुभ हदीस में आया है :" हे लड़का! अल्लाह का नाम लेकर शुरू करो, और आपने दाहिने हाथसे खाओ l"

3-पीने के दौरान बर्तन के बाहर सांस लेना :मतलब: तीन बार में पिए एक ही बार में न पी डाले lक्योंकि हज़रत पैगंबर-उन पर इश्वर की कृपाऔर सलाम हो- पीने के दौरान तीन बार सांस लेते थे( यानी बर्तन के बाहर) lइसे इमाम मुस्लिमने उल्लेख किया है l
4–बैठकरपीना :क्योंकि हदीस में आया है:" तुम में से कोई भी हरगिज़ खड़ा रहकर न पिए l"इसे इमाम मुस्लिम ने उल्लेख किया है l
5–पीने के बाद अल-हमदु-लिल्लाह-(अल्लाह का शुक्र है) कहना: क्योंकि शुभ हदीस में है:" निस्संदेह अल्लाह दास से प्रसन्न होता है, यदि वह खाना खता है और उसपर उसका शुक्र अदा करता है और पीने की चीज़ पीता है तो उस पर उसका शुक्र अदा करता है l"इसे इमाम मुस्लिम ने उल्लेख किया है l
और उन सुन्नतों की कुल संख्या २० (बीस) होती हैं जिन्हें एक मुसलमान व्यक्ति पीने के समय लागू करने का प्रयास करता हैlयाद रहे कि इस सुन्नत की संख्या बढ़ भी सकती है यदि शरबत या चाय या दूसरी पिने की चीजों को भी इस में शामिल कर लिया जाए lक्योंकि कुछ लोग इन चीजों को पीते समय इस पर ध्यान नहीं देते हैं इसलिए सावधान रहें l

Previous article Next article